उझानी

पीएसी के जवान का बैग उच्चकों ने किया चुराया, जवानों ने कई युवकों को पीटा, अब पुलिस-पीएसी कर रही है इंकार

उझानी,(बदायूं)। गंगा घाट पर कांवडिय़ों की सुरक्षा में तैनात पीएसी के जवान का बैग किसी उच्चके ने पार कर दिया। बैग में पर्स के अलावा लैपटाप व अन्य आवश्यक दस्तावेज थे। बैग चोरी के शक में पीएसी के जवानों ने जमकर उत्पात भी मचाया। कछला के स्थानीय लोगों का आरोप है कि पीएसी के जवानों ने शक के आधार पर इलाके के करीब आधा दर्जन युवकों को उनके घरों से उठा लिया और उनके साथ जमकर मारपीट की। मामले की भनक लगते ही राजनीतिक लोगों के अलावा अन्य लोग मौके पर पहुंचे और पकड़े गए युवकों को जवानों के चंगुल से छुड़ाया।

बताया जाता हैं कि मंगलवार तड़के 5 बजे एक पीएसी जवान का बैग उच्चकों ने गायब कर दिया। बैग में पर्स के अलावा लैपटॉप एवं आवश्यक दस्तावेज बताए जाते हैं। नगर में यहां तक चर्चा है उस बैग में कुछ सरकारी आवश्यक सामग्री भी थी। काफी देर बाद जब जवान को बैग गायब होने का पता लगा, तो पीएसी के जवानों ने मुखबिरों के माध्यम से चोरों की तलाश शुरू कर दी। पीएसी के जवानों ने नगर के आधा दर्जन युवकों को सुबह तड़के घर से पकड़ लिया गया। पकड़े गए युवकों में पप्पू पुत्र चंद्रपाल, सुधीश पुत्र साधु, नन्हे पुत्र शेर सिंह, राहुल शर्मा पुत्र राम खिलाड़ी समेत आधा दर्जन युवक शामिल रहे। आरोप है कि पीएसी के जवानों ने पकड़े गए युवकों के साथ जमकर मारपीट की जिसमें कई युवकों को चोटें आई हैं। नन्हे पुत्र शेर सिंह ने बताया अचानक सुबह पीएसी के जवान मेरे घर पर आए और मुझे पकड़ कर ले गए और मेरे साथ जमकर मारपीट की गई। मुझसे पूंछा गया बैग कहां है। मैंने कहा मुझे कुछ पता नहीं है। इसके बावजूद भी पीएसी के जवान घंटों मेरे साथ मारपीट करते रहे। जिससे मेरे पैर में गंभीर चोट आई है। इसके अलावा अन्य युवकों को भी काफी पीटा गया। देर शाम तक चोरी गया बैग बरामद नहीं हो सका है। पीएसी के जवान लगातार पकड़े गए युवकों के पते ठिकाने पर दबिश दे रहे हैं। इस मामले में जानकारी करने पर कछला चौकी प्रभारी प्रमोद कुमार ने बताया कि पीएसी के किसी जवान का बैग चोरी करने की जानकारी उन्हें नही दी गई है और न ही पीएसी के जवानों द्वारा किसी को पीटे जाने की सूचना है। उधर 43 बटालियन के प्लाटून कमांडेंट हरविंदर सिंह ने बताया हमारे यहां किसी तरह की कोई चोरी नहीं हुई है न ही हमने किसी युवक को पीटा है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!