उझानी

उझानी में रात में मूर्ति विसर्जित करते वक्त डूबे तीन युवक, दो के शव बरामद, तीसरे की तलाश जारी

उझानी,(बदायूं)। उझानी क्षेत्र के गांव खजुरारा में शुक्रवार की रात मूर्ति विसर्जित करने पहुंचे एटा जनपद के दो युवकों समेत उझानी का एक युवक विसर्जित करते वक्त गहरे पानी में पहुंच कर डूब गए। शोरगुल हुआ तब भारी संख्या में ग्रामीण पहुंच गए और डूबे युवकों की तलाश की जिसमें एटा के दो युवकों के शव गंगा से मिल गए जबकि उझानी के युवक को गोताखोर तलाशने में लगे हुए हैं।

अनंत चतुर्थी पर एटा जनपद के कस्बा जलेसर निवासी 24 वर्षीय आसू पुत्र मुकेश, 22 वर्षीय सोनू पुत्र छोटेलाल अपने कस्बे और मौहल्लें के लोगों के साथ गणेश प्रतिभा का विसर्जन करने शुक्रवार की रात लगभग सात बजे कछला स्थित मां भागीरथी के तट पर पहुंचा। बताते हैं कि युवकों ने कछला गंगा तट के बजाय दो किलोमीटर आगे गांव खजुरारा के समीप गंगा तट पर मूर्ति विसर्जन करने के लिए पहुंच गए। बताते है कि युवकों के साथ गांव खजुरारा निवासी खलीफा पुत्र केशव देव भी मौजूद था। बताते हैं कि गणेश मूर्ति विसर्जन के दौरान तीनों युवक गहरे पानी में पहुंच गए और पानी के तेज बहाब के साथ बहने व डूबने लगे। बताते हैं कि हादसे पर मौजूद लोगों ने शोर मचाया और बहते युवकों को बचाने का प्रयास किया मगर वह अंधेरा होने के कारण सफल न हो सके। बताते है कि हादसे की सूचना पर कछला पुलिस मौके पर पहुंच गई और गोताखोरों की मदद से डूबे युवकों की तलाश शुरू करा दी। रात लगभग 11 बजे जलेसर के आसू और सोनू के शव गंगा में मिल गए जबकि खलीफा का कोई पता नही चल सका।
शनिवार को पुलिस ने गोताखारों को गंगा में उतार कर खलीफा की तलाश कराई मगर उसका कोई पता नही चल सका है। बताते है कि परिजन खलीफा के साथ अनहोनी से इंकार नही कर रहे हैं। पुलिस ने एटा के दोनों युवकों के शव पीएम करा कर परिजनों को सौंप दिए हैं। इस हादसे पर मृतकों के परिजनों में कोहराम मचा हुआ है।

Leave a Reply

error: Content is protected !!