जनपद बदायूं

डीएम को जिला अस्पताल में मिली अव्यवस्थाएं, तीमारदारों ने खुल कर की शिकायतें, बाहर की दवा ने लिखने के निर्देश

बदायूं। गुरुवार को जिलाधिकारी मनोज कुमार ने सिटी मजिस्ट्रेट ब्रजेश कुमार सिंह व मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. प्रदीप वार्ष्णेय के साथ जिला महिला चिकित्सालय में ओपीडी, एसएनसीयू, केएमसी, सर्जीकल, पीएनसी वार्ड सहित लेबर रूम, किचिन, लाउंड्री और रैन बसेरा का औचक स्थलीय निरीक्षण किया। एक-एक करके डीएम ने सभी वार्डां का निरीक्षण किया।

डीएम ने मरीजों से उनका हाल जाना और अस्पताल की व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली। डीएम ने निर्देश दिए कि बेड के पास तीमारदारों के लिए बैंच डाली जाए। कुछ लोगों ने डीएम को अवगत कराया कि आज विशेष सफाई की जा रही है और अस्पताल में प्रथम, द्वितीय एवं तृतीय तलों पर जाने के लिए लिफ्ट की व्यवस्था है, लेकिन इसे बंद रखा जाता है, यह आज ही खुली है। डीएम ने सीएमओ को निर्देश दिए कि व्यवस्थाओं की मॉनिट्रिंग विशेष तौर पर होती रहे।

तीमारदारों ने डीएम को बताया कि गर्भवती के ब्लड प्रेशर चेक करने के लिए जो स्टाफ बैठाया गया है, वह रिपोर्ट को अंदाज से तैयार कर रहा था, जिसका रजिस्टर देखने पर डीएम एवं अन्य अधिकारियों को उसमें शंका हुई तो कहा कि अपने स्टाफ नर्स का बीपी चेक करें तो स्टाफ ठीक से चेक नहीं कर रहा है जिसपर डी एम ने नाराजगी जताई और सीएमओ को निर्देश दिए कि यहां डिजीटल मशीन लगाई जाए और तैनात स्टाफ की उनके द्वारा प्रयोग किए जाने वाले उपकरणों का एक बार प्रशिक्षण अवश्य दिलाया जाए।

डीएम ने निर्देश दिए कि वार्डां के बाहर चिकित्सकों के नाम, मोबाइल नम्बर तथा उपलब्ध दवाओं की वॉलपेटिंग कराई जाए। जनरल वार्डों में पहुंचकर उन्होंने मरीजों से उनका हालचाल जाना एवं तीमारदारों से व्यवस्थाओं के बारे में जानकारी ली कि चिकित्सक देखने आते हैं भोजन गुणवत्ता पूर्वक मिलता है एवं दवाओं को चिकित्सालय से ही दिया जाता है या नहीं या फिर बाजार से तो दवाई नहीं लिखी जाती हैं।

डीएम ने निर्देश दिए कि सभी मरीजों को अस्पताल के भीतर ही दवाओं को उपलब्ध कराया जाए, किसी को भी बाहर से दवा न लिखी जाए। चिकित्सक नियमित रूप से मरीजों के पास पहुंचकर उनके स्वास्थ्य की जानकारी लेते रहे। बेडशीट नियमित रूप से बदलती रहे, सीढियों के पास गुटखा थूकने के निशान देखकर नाराज़गी व्यक्त करते हुए निर्देश दिए कि इसको साफ कराएं और अस्पताल में ज़रा भी गंदगी न होने दी जाए, साफ सफाई का विशेष ख्याल रखा जाए। डीएम ने आयुष्मान कार्ड के सम्बंध में जानकारी लेते हुए इसकी प्रगति बढ़ाने के निर्देश दिए हैं। इस अवसर पर सीएमएस डॉ0 पुष्पापंत त्रिपाठी भी मौजूद रहीं।

Leave a Reply

error: Content is protected !!