उझानी

शिक्षक से मिलता है सद्ज्ञानः सुखपाल

उझानी,(बदायूं)। अखिल विश्व गायत्री परिवार प्रज्ञा मंडल और प्रखर बाल संस्कारशाला की ओर से शिक्षक दिवस की पूर्व संध्या पर 90 वर्षीय शिक्षक जयसिंह यादव को प्रशस्ति पत्र , गायत्री मंत्र पटिका और वेदमूर्ति तपोनिष्ठ पंडित श्रीराम शर्मा आचार्य का सद्साहित्य भेंट किया गया।

वरिष्ठ गायत्री परिजन सुखपाल शर्मा ने मां सरस्वती के चित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन कर कार्यक्रम का शुभारम्भ कराया और कहा कि शिक्षक मार्गदर्शक हैं। जीवन को संस्कारित कर महान लक्ष्य तक पहुंचाते हैं। भुवनेश कुमार शर्मा ने कहा कि शिक्षकों के जीवन भर का सारा तप शिष्यों के उत्कर्ष के लिए होता है। गायत्री परिवार के संजीव कुमार शर्मा ने कहा कि विद्यादान सर्वोच्च दान है। शिक्षकों से मिले संस्कारों से युवा पीढ़ी जन्म जमान्तरों के कष्टों का निवारण करे और जीवन को मूल्यवान बनाएं।
समाजसेवी आर्येद्र यादव ने कहा कि शिक्षकों के श्रेष्ठ मार्गदर्शन में बच्चे अपनी योग्यता और प्रतिभा को निखारें। अनंत संभावनाओं को साकार करें। गायत्री परिजनों ने 90 वर्षीय शिक्षक जयसिंह यादव , प्राथमिक विद्यालय सरौरा की प्रधानाध्यापिका मुन्नी देवी को प्रशस्ति पत्र और गायत्री मंत्र का पटका पहनाकर सम्मानित किया। इस मौके पर ध्रुव यादव, मोना यादव, अंशिका, शिवम आदि मौजूद रहे।

Leave a Reply

error: Content is protected !!